सुनीता बुढीऊली 2019 की गोल्ड मेडलिस्ट

सुनीता बुढीऊली 2019 की गोल्ड मेडलिस्ट है जो आदिवासी ‘हो’ समुदाय की संघर्षशील महिला है जिन्होंने साबित कर दिखाया कि परिस्थिति चाहे कैसी भी हो, जुनून – जज्बा और शिद्दत के साथ कुछ काम शुरू करे तो पूरी कायनात आपको सफल करने में लग जाती है , जी हां सुनीता बुढीऊली जिन्होंने ‘हो’ भाषा की पढ़ाई 10वीं कक्षा से शुरू की और 2019 में m.a कंप्लीट किया, इनको राज्यपाल द्वारा गोल्ड मेडल एवं सर्टिफिकेट 2022 में मिला, बता दें सुनीता b.ed कर रही हैं जो इस साल कंप्लीट करेंगी और साथ ही UGC- Net दो बार qualified है और उन्होंने कम्युनिटी टीचर के रूप में 5 साल आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा की ओर से कस्तूरबा स्कूल झीकपानी में पढ़ाने का काम किया है,
सुनीता समाज के शिक्षा के प्रति काफी संवेदनशील है उनका सपना है ‘हो’ समाज को आगे लाने के लिए b.ed कॉलेज शुरू करना चाहती हैं और उनके इस सपने को साकार करने में उनके जीवन साथी श्री कृष्ण चंद्र बोरदा जी, जो खुद ‘हो’ भाषा के जानकार हैं और उन्होंने JNU से पढ़ाई की है , और वर्तमान में आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा संस्था के केंद्रीय अध्यक्ष भी हैं अगर हम कृष्ण चंद्र बोदरा की बात करें तो उन्होंने भी कई ऐसे कम्युनिटी टीचरों को ट्रेनिंग दिया है जो ओडिशा, झारखंड और बंगाल में वारंग क्षिति लिपि के सेंटरों में पढ़ा रहे हैं तुरतुंग प्रोजेक्ट जो Tata Steel और महासभा के संयुक्त तत्वधान द्वारा चलाया जा रहा है, बता दें बोदरा जी झारखंड सरकार के शिक्षा विभाग के साथ भी ‘हो’ भाषा को लेकर काफी काम कर रहे हैं, ‘हो’ भाषा की किताबें छापने में उनका बड़ा योगदान रहा है ।
हमारे ‘हो’ समाज की ओर से सुनीता बुढीऊली जी को उनके उज्जवल भविष्य के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं देते हैं एवं वह हमारे समाज के लिए शिक्षा की रोल मॉडल बने ऐसी कामना करते हैं

AHSM ने इतिहास के पन्नों से उठाकर दुनिया के सामने रखने का संकल्प लिया

आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा प्रखंड समिति जगरनाथपुर ने इतिहास के पन्नों से उठाकर दुनिया के सामने रखने का संकल्प लिया है बता दें 1838 ई में शहीद हुए वीर योद्धाओं को महासभा द्वारा जगन्नाथपुर के रितुई गोंडाई तालाब स्थल पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन करती आ रही है आप सभी को बता दें अब वहां भी संरक्षण एवं सुंदरीकरण की दिशा में महासभा कार्य करने जा रही है महासभा के केंद्रीय अध्यक्ष श्री कृष्ण चंद्र बोदरा , महासचिव तीरील तिरीया , उपाध्यक्ष नरेश देवगम , केंद्रीय सदस्य पोरेश पाडीया, सुभाष बारी ,सुजीत कालुंदिया आदि सभी पदाधिकारियों का मानना है कि ऐसे धरोहरों का सांस्कृतिक एवं सामाजिक विकास में बड़ा योगदान का केंद्र बनेगा जिससे समाज में शांति और एकता का वातावरण स्थापित होगा
May be an image of 9 people and people standing

आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा एवं मुंडा मानकी संग ने बच्चों की शिक्षा को लेकर महत्वपूर्ण चर्चा एवं रणनीति तैयार की

आज दिनांक 11 फरवरी 2022 स्थान तूइवीर पंचायत चाईबासा में Aspire संगठन के साथ आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा एवं मुंडा मानकी संग ने बच्चों की शिक्षा को लेकर महत्वपूर्ण चर्चा एवं रणनीति तैयार की, यह कार्यक्रम 3 से 16 साल तक के बच्चों के लिए अभीयान चलाया जाएगा 7 साल 4 महीने तक चलने वाला है, शिक्षा को लेकर यह एक क्रान्तिकारी काम है यह बात वीरेन भुट्टा ने कही, महासभा के केंद्रीय अध्यक्ष श्री कृष्ण चंद्र बोदरा एवं मामु संग के अध्यक्ष श्री गणेश पाटपींगुवा ,दोनो ने इस कार्यक्रम को भरपुर सहयोग करने की बात कही , काफी संख्या में पश्चिमी सिंहभूम के सभी प्रखंडों से समाज के लोग सामील हुए,
इस बैठक में मुख्य रूप से सामील पदाधिकारियों एवं सदस्य –
1-महासभा के केंद्रीय महासचिव, तीरील तिरीया
2- सतिश तामसोय
लक्ष्मन सामाड, शुदरशन लागुरी, फुलचंद मेम्बर, राम कृष्ण चाकी, प्रताप, आदि

आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा की जिला इकाई पूर्वी सिंहभूम जमशेदपुर का गठन

आदिवासी ‘हो’ समाज महासभा की जिला इकाई पूर्वी सिंहभूम जमशेदपुर का गठन किया गया जिसमें सर्व सहमति से रैना पूर्ति को जिलाध्यक्ष चुना गया

May be an image of 7 people, people standing and outdoors

May be an image of 4 people and people standing

May be an image of 3 people, people standing and outdoors